राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आज नरेंद्र मोदी को राष्ट्रपति परिसर भवन में प्रधानमंत्री पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे। इससे पहले मोदी राजघाट पहुंचे वहां पर उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को नमन किया और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की समाधि तक पैदल चलकर गए। अटलजी को याद करते हुए मोदी ने शीश झुकाते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की। अटल समाधि स्थल में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, नरेंद्र सिंह तोमर, जेपी नड्डा समेत कई नेता मौजूद रहे। इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी नेशनल वॉर मेमोरियल पहुंचे। जहां पर नरेंद्र मोदी ने शहीदों को श्रद्धांजलि दी।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में विदेशी मेहमानों, मुख्यमंत्रियों, राज्यपालों और अन्य विशिष्ट अतिथियों के आगमन को देखते हुये राष्ट्रीय राजधानी में सुरक्षा के कड़े इंतजाम करते हुये दिल्ली पुलिस एवं सुरक्षा बलों के दस हजार जवानों को तैनात किया है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि कई महत्वपूर्ण जगहों पर त्वरित प्रतिक्रिया टीमों को तैनात किया गया है और महत्वपूर्ण भवनों पर अचूक निशानेबाजों को तैनात किया गया है। बृहस्पतिवार को मोदी के शपथ ग्रहण से पूर्व राजघाट, सदैव अटल समाधि और राष्ट्रीय युद्ध स्मारक भवनों का दौरा करने की संभावना है।

उन्होंने बताया कि शपथ ग्रहण समारोह को देखते हुये दिल्ली पुलिस और सुरक्षा बलों के दस हजार जवानों को तैनात किया गया है। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि करीब दो हजार जवानों को मोदी और विदेशी मेहमानों के आवागमन के मार्ग पर तैनात किया गया है। मोदी और उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों का राष्ट्रपति भवन के प्रांगण में शाम सात बजे शपथ लेने का कार्यक्रम है। समारोह से एक दिन पहले जारी एक यातायात परामर्श में कहा गया है कि बृहस्पतिवार को शाम चार बजे से रात नौ बजे तक नयी दिल्ली जिले में कई सड़कें बंद रहेंगी और मोटर वाहन चालक इन सड़कों पर आने से बचें। यातायात को लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं और यातायात परामर्श जारी किया गया है। इसमें कहा गया है कि आमंत्रित लोगों और जनता के लिए निर्देश संकेतक लगाए गए हैं। सभी मोटर वाहन चालकों को ड्यूटी पर तैनात यातायात पुलिस के निर्देशों का पालन करने की सलाह दी जाती है।